Posts

Showing posts from October, 2017

ad02jan2018

सुप्रभातम

Image
🌺।।सुप्रभातम।।🌺


मेहनत से उठा हूँ,
मेहनत का दर्द जानता हूँ।
आसमाँ से ज्यादा,
ज़मीं की कद्र जानता हूँ।
लचीला पेड़ था,
जो झेल गया आँधियाँ।
मैं मग़रूर दरख़्तों,
का हश्र जानता हूँ।
छोटे से बड़ा बनना,
आसाँ नहीं होता।
जिन्दगी में कितना,
ज़रुरी है सब्र जानता हूँ।
मेहनत बढ़ी तो,
किस्मत भी बढ़ चली।
छालों में छुपी लकीरों,
का असर जानता हूँ।
कुछ पाया पर अपना,
कुछ नहीं माना।
क्योंकि आख़िरी ठिकाना,
मेरा मिट्टी का घर जानता हूँ।

🙏🏻आपका दिन शुभ और मंगलमय हो🙏🏻

ईर्ष्या व असंतोष

Image
ईर्ष्या व असंतोष 

किसी से स्पर्धा न करें ।किसी से आगे निकलना हैं और किसी को पीछे छोड़ना है ,ऐसा मानस रखने से ईर्ष्या और असंतोष बढ़ता है ।अपनी शक्ति का पूर्ण उपयोग करें लेकिन अन्य को नुकसान पहुचाने का इरादा न बनाए ।हो सकता हैं अन्य को कमजोर करने के चक्कर मे खुद आप ही कमजोर साबित हो जाये।

आप के नसीब में जो हैं वहः तो आप को मिलता ही है ।आप के नसीब जो नही है वह आप को नही मिलता हैं ।

अन्य की सफलता देखकर मन मे जलन बनाना सरासर मूर्खता हैं ।आप के  पास जितना है आप उससे खुश रह सकते हैं ।

आप खुद की तुलना अन्य से न करे ।आप अपने आप मे एक अच्छी जिंदगी जी रहे हो।

ऐसे लोग भी है जो आप की तरह सम्पन्न नही है ।आप खुद के सम्बंध में आत्म संतोष बनाये रखे।मन को अतृप्ति से दूर रखें।

आप केवल खुद के कमजोर या अधूरे विचारों को पराजित कीजिये ।जो विचार प्रसन्नता को तोड़ता है उसे दूर हटा दे ।

सात्विक भूमिका से खुद को खुश रखो।स्पर्धा,आक्षेप,आरोप-परीत्यारोप,ये सब बेकार की चीजें हैं ।

प्रेरणा,प्रसंशा, सद्भाव,जैसे उत्तम तत्वों को जीवन मे अग्रिमता दीजिये ।

संस्करण आत्मबोध से लिया गया

सुप्रभातम।

Image
🌺।।सुप्रभातम।।🌺


  *।।जिंदगी में कुछ खोना पडे तो।।*
यह दो लाईन याद रखना, जो खोया उसका गम नहीं।
पर जो पाया है वह, किसी से कम नहीं।
जो नहीं है वह एक ख्वाब है, पर जो है वह लाजवाब है।
🙏🏻आपका दिन शुभ और मंगलमय हो🙏🏻

।।।सुविचार।।।

Image
*मिट्टी* का *मटका* Click here to Download सविचार हिंदी aps
 और  *परिवार* की *कीमत*


सिर्फ *बनाने* वाले को पता होती है ,  *तोड़ने* वाले को नहीं।"
*संघर्ष पिता से सीखिये..!* *संस्कार माँ से सीखिये...!!*
_बाकी सब कुछ दुनिया सिखा देगी...!!!_
     *🙏🏻🌹सुप्रभात 🌹🙏🏻*     *आपका दिन मंगलमय हो*

दूध पीने के कई फायदे हैं ।

Image
दूध तो हम में से कई लोग पीते है फिर भी लोगो को शिकायत रहती है




कि उन्हें दूध पचता नही है और ना ही शरीर को लगता है।

आज हम आपको एक ऐसी चीज बतायेंगे जिसे दूध में डालकर पीने से आपका शरीर फौलाद की तरह बन जायेगा। आप बीमारियों से कोसों दूर हो जाएंगे और एक स्वस्थ-निरोगी काया पाएंगे।

ये चीज है दालचीनी जिसे हम दैनिक जीवन मे बहुतायत से उपयोग करते है पर इसके कई फायदों से अनजान हैं। दालचीनी को इसके अनोखे गुणों के कारण वंडर स्पाइस भी कहते है। दालचीनी को दूध के साथ मिलाकर पीने से इसके लाभ कई गुना बढ़ जाते है, ये ना केवल आपके शरीर को मजबूत करती है बल्कि सुंदरता भी बढ़ाती है।

दालचीनी वाला दूध बनाने के लिए आपको एक ग्लास गर्म दूध में आधा चम्मच दालचीनी अच्छी तरह मिला देना है और इसका गर्म ही सेवन करना है। इस दूध को पीने से आपको कई फायदे होंगे जैसे-

आपका ब्लड सुगर लेवल रेगुलेट रहेगा यानी डाइबिटिज के मरीजो के लिए दालचीनी वाला दूध बहुत बहुत फायदेमंद है।

ये स्किन और बालों से सम्बंधित हर समस्या को दूर करता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते है जो बालों और स्किन से जुड़ी रोगाणुओ को नष्ट कर देते हैं।

दालचीनी वाले दूध का…

शयन (सोने)के नियम

Image
*🌺🥀शयन के नियम🥀🌺*

🌺सूने घर में अकेला नहीं सोना चाहिए। देवमन्दिर और श्मशान में भी नहीं सोना चाहिए। *(मनुस्मृति)*

🌺किसी सोए हुए मनुष्य को अचानक नहीं जगाना चाहिए। *(विष्णुस्मृति)*

🌺विद्यार्थी, नौकर औऱ द्वारपाल, ये ज्यादा देर तक सोए हुए हों तो, इन्हें जगा देना चाहिए। *(चाणक्यनीति)*

🌺स्वस्थ मनुष्य को आयुरक्षा हेतु ब्रह्ममुहुर्त में उठना चाहिए। *(देवीभागवत)*

🌺बिल्कुल अंधेरे कमरे में नहीं सोना चाहिए। *(पद्मपुराण)*

🌺भीगे पैर नहीं सोना चाहिए। सूखे पैर सोने से लक्ष्मी (धन) की प्राप्ति होती है। *(अत्रिस्मृति)*

🌺टूटी खाट पर तथा जूठे मुंह सोना वर्जित है। *(महाभारत)*

🌺नग्न होकर नहीं सोना चाहिए। *(गौतमधर्मसूत्र)*

🌺पूर्व की तरफ सिर करके सोने से विद्या, पश्चिम की ओर सिर करके सोने से प्रबल चिन्ता, उत्तर की ओर सिर करके सोने से हानि व मृत्यु, तथा दक्षिण की तरफ सिर करके सोने से धन व आयु की प्राप्ति होती है। *(आचारमय़ूख)*

🌺दिन में कभी नही सोना चाहिए। परन्तु जेष्ठ मास मे दोपहर के समय एक मुहूर्त (48 मिनट) के लिए सोया जा सकता है। *(जो दिन मे सोता है उसका नसीब फुटा है)*

🌺दिन में तथा सुर्योदय एवं सुर्यास्त क…

अपने माता पिता का सम्मान करने के 35 तरीके

Image
अपने माता पिता का सम्मान करने के 35 तरीके



1. उनकी उपस्थिति में अपने फोन को दूर रखो.
2. वे क्या कह रहे हैं इस पर ध्यान दो.
3. उनकी राय स्वीकारें.
4. उनकी बातचीत में सम्मिलित हों.
5. उन्हें सम्मान के साथ देखें.
6. हमेशा उनकी प्रशंसा करें.
7. उनको अच्छा समाचार जरूर बताएँ.
8. उनके साथ बुरा समाचार साझा करने से बचें.
9. उनके दोस्तों और प्रियजनों से अच्छी तरह से बोलें.
10. उनके द्वारा किये गए अच्छे काम सदैव याद रखें.
11. वे यदि एक ही कहानी दोहरायें तो भी ऐसे सुनें जैसे पहली बार सुन रहे हो.
12. अतीत की दर्दनाक यादों को मत दोहरायें.
13. उनकी उपस्थिति में कानाफ़ूसी न करें.
14. उनके साथ तमीज़ से बैठें.
15. उनके विचारों को न तो घटिया बताये न ही उनकी आलोचना करें.
16. उनकी बात काटने से बचें.
17. उनकी उम्र का सम्मान करें.
18. उनके आसपास उनके पोते/पोतियों को अनुशासित करने अथवा मारने से बचें.
19. उनकी सलाह और निर्देश स्वीकारें.
20. उनका नेतृत्व स्वीकार करें.
21. उनके साथ ऊँची आवाज़ में बात न करें.
22. उनके आगे अथवा सामने से न चलें.
23. उनसे पहले खाने से बचें.
24. उन्हें घूरें नहीं.
25. उन्हें तब भी गौरवान्वित प्रतीत करायें जब…

रेत का घर

Image
*" रेत  का घर "*
*क्यों    भूल   गया तू  ,* *ये   रेत  का   घर  है  ?* *दूर - दूर   तक   यहाँ  ,* *जन- जमीन  बंजर है ।*
*अब  यहाँ   पर  कोई ,* *फल-फसल न  उगेगी ।* *देख   लेना कल यहाँ  ,* *नेह-  दीप  न  जलेगी ।।*
*तू लाख कर कोशिश  ,* *सफलता कोसों दूर है ।* *जितना जालिम  है ये  ,* *उतना ही  मगरूर   है ।।*
*तेरे   "प्रेम  का पौधा" ,* *यहाँ  सूख    जायेगा ।* *व्यर्थ होगा सभी श्रम  ,* *पीछे       पछतायेगा ।।*
*समझाना  मेरा  काम ,* *आज    ही  जान  ले ।* *ऊसर    उर   उसका  ,* *मन का कहा मान ले ।।*
*बहुत आये और  गये ,* *यहाँ इश्क बीज  बोने ।* *कुछ नहीं मिला  उन्हें ,* *सिवाय  सर्वस्व खोने ।।*
*इस  खंडहरों  में  देख  ,* *उनकी अस्थियाँ यहाँ ।* *जम गये उनके सपने  ,* *जली   बस्तियाँ  जहाँ ।।*
*हे! मन  मनुज   क्यों ,* *इतना     परेशान   है ?* *हार  कर  जीतना ही ,* *फितरत    इंसान   है ।।*
*मन की  बातों    को ,* *माना    होता    गौरी ।* *होता   न    शहंशाह  ,* *प्रेरणा का सिर मौरी ।।*
*मन की  बात   मानें ,* *अगर   होते     राम ।* *रामसेतु  नहीं  होता ,* *रावण-काम  तमाम ।।*
*होनी तो   होकर  ही ,* *रहती सदा   जग  में ।* *म…

सुप्रभातम

Image
🌺।।सुप्रभातम।।🌺
हमारे जीवन की वास्तविक महत्ता और, सफलता उसकी आत्मिक प्रगति पर निर्भर है।
भौतिक सफलतायें उतनी देर ही आनन्द देती हैं, जब तक कि उनकी प्राप्ति न हो जाये।
जैसे ही वह हासिल हुई कि, उनका आनन्द समाप्त हुआ।
सच्चा और चिरस्थायी सुख और लाभ, आत्मिक प्रगति पर ही अवलम्बित है।
अगर हम मानव-जीवन का, श्रेष्ठतम सदुपयोग करना चाहते हैं।
और जिस आनन्द के लिए, यह जन्म मिला है उसे पाना चाहते हैं तो।
आत्मिक प्रगति के लिए तत्पर, होना चाहिए और उसके दोनों आधारों।
उपासना और साधना का, अवलंबन ग्रहण करना चाहिए।
🙏🏻आपका दिन शुभ और मंगलमय हो🙏🏻

आपको और आपके पुरे परिवार को छठ पुजा की हार्दिक शुभकामनाएँ

Image
ऐ सूर्य देव मेरे अपनो को                 यह पैगाम देना; खुशियों का दिन                 हँसी की शाम देना; जब कोई पढे प्यार से                मेरे इस पैगाम को; तो उन को चेहरे पर                प्यारी सी मुस्कान देना।
।।आपको और आपके पुरे परिवार  को छठ पुजा की हार्दिक शुभकामनाएँ ।।।

।।सुप्रभातम।।

Image
।।सुप्रभातम।।


कलश से पूछा गया कि तुमने ऐसा क्या,
पुण्य किया है कि सबके सिर पर विराजते हो।

उसने कहा कि मिट्टी के रूप में था,
तब पैरों में गूंथा गया।

बनने के बाद धूप में तपा,
फिर अग्नि में जलाया गया।

इतनी साधना और अपमान,
के बाद तुम्हारे सिर पर आया हूं।

जीवन में साधना और,
अपमान को विष नमानकर।

इसको अपने सम्मान का,
अमृत बना लेना चाहिए।

((आपका दिन शुभ और मंगलमय हो))

एक बेहतरीन सोच

Image
एक बेहतरीन सोच

                 *हर एक की सुनो*
             *और हर एक से सीखो*
                 *क्योंकि हर कोई,*
              *सब कुछ नही जानता*
                   *लेकिन हर एक*
       *कुछ ना कुछ ज़रुर जानता हैं!*

 *स्वभाव रखना है तो उस
दीपक की तरह रखिये, जो

 बादशाह के महल में भी उतनी ही रोशनी देता है, जितनी की किसी गरीब की झोपड़ी
में….*

    *सुप्रभात, शुभ दिन*

विश्व परिवार दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाऍ (Happy World Family Day)

Image
15 May 
International Day of Families

         "परिवार" से बड़ा कोई             "धन" नहीं!             "पिता" से बड़ा कोई              "सलाहकार" नहीं!             "माँ" की छाव से बड़ी              कोई "दुनिया" नहीं!             "भाई" से अच्छा कोई               "भागीदार" नहीं!             "बहन" से बड़ा कोई             "शुभचिंतक" नहीं!             "पत्नी" से बड़ा कोई             "दोस्त" नहीं                     इसलिए             "परिवार" के बिना             "जीवन" नहीं!!! आज विश्व परिवार दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाऍ 🌹

ज्ञान की बात !!!!!

Image
जो *पिता* के पैरों को छूता है            वो कभी *गरीब* नहीं होता।
जो *मां* के पैरों को छूता है           वो कभी *बदनसीब* नही होता।
जो *भाई* के पैराें को छूता है           वो कभी *गमगीन* नही होता।
जो *बहन* के पैरों को छूता है         वो कभी *चरित्रहीन* नहीं होता। 
*जो गुरू के पैरों को छूता है*          *उस जैसा कोई*                 *खुशनसीब नहीं होता*.......
अच्छा *दिखने* के लिये मत जिओ            बल्कि *अच्छा* बनने के लिए जिओ
 जो *झुक* सकता है वह सारी            दुनिया को *झुका* सकता है 

  अगर बुरी आदत *समय पर न बदली* जाये            तो बुरी आदत *समय बदल देती* है

  चलते रहने से ही *सफलता* है,           रुका हुआ तो पानी भी *बेकार* हो जाता है 
 *झूठे दिलासे* से *स्पष्ट इंकार* बेहतर है अच्छी *सोच*, अच्छी *भावना*,           अच्छा *विचार* मन को हल्का करता है
मुसीबत सब पर आती है,           कोई *बिखर* जाता है              और कोई *निखर* जाता है दुनिया की ताकतवर चीज है *"लोहा"*        जो सबको काट डालता है .... लोहे से ताकतवर है *"आग"*         जो लोहे को पिघला देती है.... आग …

हे प्राणी तुझे नहीं पता तू किसके भाग्य का खा कमा रहा है|

Image
एक आदमी ने नारदमुनि से पूछा मेरे भाग्य में कितना धन है...
नारदमुनि ने कहा - भगवान विष्णु से पूछकर कल बताऊंगा...

नारदमुनि ने कहा- 1 रुपया रोज तुम्हारे भाग्य में है...
आदमी बहुत खुश रहने लगा...

उसकी जरूरते 1 रूपये में पूरी हो जाती थी...
एक दिन उसके मित्र ने कहा में तुम्हारे सादगी जीवन और खुश देखकर बहुत प्रभावित हुआ हूं और अपनी बहन की शादी तुमसे करना चाहता हूँ...

आदमी ने कहा मेरी कमाई 1 रुपया रोज की है इसको ध्यान में रखना...
इसी में से ही गुजर बसर करना पड़ेगा तुम्हारी बहन को...

मित्र ने कहा कोई बात नहीं मुझे रिश्ता मंजूर है...

अगले दिन से उस आदमी की कमाई 11 रुपया हो गई...

उसने नारदमुनि को बुलाया की हे मुनिवर मेरे भाग्य में 1 रूपया लिखा है फिर 11 रुपये क्यो मिल रहे है...??

नारदमुनि ने कहा - तुम्हारा किसी से रिश्ता या सगाई हुई है क्या...??

हाँ हुई है...

तो यह तुमको 10 रुपये उसके भाग्य के मिल रहे है...
इसको जोड़ना शुरू करो तुम्हारे विवाह में काम आएंगे...

एक दिन उसकी पत्नी गर्भवती हुई और उसकी कमाई 31 रूपये होने लगी...

फिर उसने नारदमुनि को बुलाया और कहा है मुनिवर मेरी और मेरी पत्नी के भाग्य …

सुप्रभातम

Image
🌺।।सुप्रभातम।।🌺

वृक्ष कभी इस बात पर व्यथित नहीं होता,
कि उसने कितने पुष्प खो दिए।

वह सदैव नए फूलों के,
सृजन में व्यस्त रहता है।

जीवन में कितना कुछ खो गया,
इस पीड़ा को भूल कर।

क्या नया कर सकते हैं,
इसी में जीवन की सार्थकता है।

 🙏🏻 *आपका दिन शुभ और मंगलमय हो* 🙏

सरकारी_दूल्हा....

Image
सरकारी_दूल्हा......(व्यंग)





जैसे ही किसी गाँव के लड़के की सरकारी नौकरी लगती है,उसकी ज़िन्दगी क्रांतिकारी रूप से बदल जाती हैं।ये परिवर्तन भारतीय कृषि में हरितक्रांति के बाद आये परिवर्तन से भी बड़ा होता हैं।जो लड़का कल तक बाप के लिए "नाकाम,नालायक और निकम्मा" था वो अब रातो-रात बाप का "नाक" हो जाता हैं।अगुवो(शादी करने वाले बिचौलिया)कि जमात में ये नौकरी पाने वाले लड़के की खबर किसी नार्थ कोरिया में किये गए नए परिक्षण से भी तेज़ फैलती हैं।उसके बाद लड़के का घर,घर नहीं शेयर मार्केट माफिक ब्रोकर का अड्डा हो जाता हैं,हर अगुवा दूल्हे रूपी शेयर का रेट अपने हसाब से "शेयरहोल्डर बाप" से तय करता हैं।
                   एक सरकारी नौकरी के बाद सब कुछ "नायक" फिल्म के तरह रातो रात बदल जाता हैं।जिस घर में बाप-चाचा,भईया-भौजी सब कटोरा-कटोरी-गिलास में वर्षो से ही चाय पीते आ रहे हो उस घर में किसी नव-परिवार नियोजन योजना की तहत नए "टी सेट" बाजार से एक दम इम्पोर्टेड लांच की जाती हैं।बिस्कुट पानी चीनी से लेकर चायपति तक का खर्चा कई सौ गुना बढ़ जाता हैं।जो बाप ने लड़के के स्कू…

सुप्रभातम्

Image
आज का विचार 

जब हम अपने घर की साफ सफाई और रंग रोगन आदि करते हैं तो हमारी दिनचर्या अस्त व्यस्त हो जाती है और हमें कई परेशानियाँ होती है. लेकिन कार्य पूरा होने के बाद बहुत सुकून मिलता है. इसी प्रकार जीवन की उठा पटक भी अंततोगत्वा सुकून देती है, क्योंकि इस उठा पटक मे हमारे जीवन का बहुत सा कचरा साफ हो जाता है.

ठीक उसी प्रकार जैसे कचरे को साफ  करते है वैसे ही उम्मीद पूरी करने के लिए प्रयास करें, अपना आकलन करें और अपनी कमियों को दूर करने का प्रयास करें.
शुप्रभात मित्रो आपका दिन शुभ एवम् खूबसूरत हो 

दीपावली पर विशेष

Image
दीपावली पर विशेष 

दीपावली पर देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए 51 उपाय – हिन्दुओं के सभी पर्वों में दीपावली का सबसे अधिक महत्तव है। इस पर्व पर धन की देवी महालक्ष्मी को प्रसन्न करने की लिए उनका पूजन किया जाता है। यदि इस दिन सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त में सही विधि-विधान से लक्ष्मी का पूजन कर लिया जाए तो अगली दीपावली तक लक्ष्मी कृपा से घर में धन और धान्य की कमी नहीं आती है। शास्त्रों के अनुसार कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं जो दीपावली के दिन करने पर बहुत जल्दी लक्ष्मी की प्रसन्नता प्राप्त की जा सकती है। यहां लक्ष्मी कृपा पाने के लिए 51 उपाय बताए जा रहे हैं और ये उपाय सभी राशि के लोगों द्वारा किए जा सकते हैं। यदि आप चाहे तो इन उपायों में से कई उपाय भी कर सकते हैं या सिर्फ कोई एक उपाय भी कर सकते हैं।

1. दीपावली पर लक्ष्मी पूजन में हल्दी की गांठ भी रखें। पूजन पूर्ण होने पर हल्दी की गांठ को घर में उस स्थान पर रखें, जहां धन रखा जाता है।

2. दीपावली के दिन यदि संभव हो सके तो किसी किन्नर से उसकी खुशी से एक रुपया लें और इस सिक्के को अपने पर्स में रखें। बरकत बनी रहेगी।

3. दीपावली के दिन घर से निकलते ही यदि कोई स…

कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा ?

Image
युवाओं के मन मे एक प्रश्न का बना हुआ था *"कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा ?"*



अब इसका उत्तर मिल गया है और सिनेमा चला भी अच्छा है जो चलना ही चाहिऐ था ।
अब इस युवा देश के लिए ये जानना जरूरी है कि  *नेताजी सुभाष चन्द्र बोस* को क्यूँ और किसने मारा,
*श्री लाल बहादुर शास्त्री* को किसने और क्यों मारा?
*महात्मा गांधी* की हत्या के वह कारण क्या थे?
इन दुर्भाग्यशाली घटनाओं से देश की पटरी ही बदल गयी।
युवाओं! ज़रा विचारो कि कहाँ कहाँ गलतियां हुई हैं.. काल्पनिक चरित्र कटप्पा से बाहर निकलो और *वो_पूछो_जो_तुमसे_जुड़ा_हुआ_है.....* पता करो कि हम लगभग 1000 साल तक गुलाम क्यों रहे.. *पता करो कि जो देश आर्थिक, सामाजिक, शैक्षिक, और वैज्ञानिक रूप से सशक्त था.. विश्व गुरु था ...वो सब ज्ञान कहाँ और कैसे खत्म हो गया..* पता करो कि सोने की चिड़िया के पंख कैसे कतर दिए गए... पता करो कि हमारे बच्चों को आजादी के बाद भी क्या और क्यूँ पढ़ाया जाता है... पता करो! पाकिस्तान का स्थायी रोग किसने भारत को दिया? तब हुआ क्या-क्या था? पता करो..! कि कश्मीर को नासूर बनाने का बीज नेहरू ने क्यों और कैसे बोया..? *पता करो..! नेपाल के…

थी ऊंची शख्सियत और बिखरी जुल्फें

Image
थी ऊंची शख्सियत और बिखरी जुल्फें
भारत की तरफ से जिन्हें सदा ही सलाम आएंगे । होगा कहीं जब भी विज्ञान का जिक्र हमें याद कलाम साहब आएंगे।।
हैप्पी बड्डे कलाम साब

आधा किलो आटा......

Image
आधा किलो आटा 🔵 एक नगर का सेठ अपार धन सम्पदा का स्वामी था। एक दिन उसे अपनी सम्पत्ति के मूल्य निर्धारण की इच्छा हुई। उसने तत्काल अपने लेखा अधिकारी को बुलाया और आदेश दिया कि मेरी सम्पूर्ण सम्पत्ति का मूल्य निर्धारण कर ब्यौरा दीजिए, पता तो चले मेरे पास कुल कितनी सम्पदा है। 🔴 सप्ताह भर बाद लेखाधिकारी ब्यौरा लेकर सेठ की सेवा में उपस्थित हुआ। सेठ ने पूछा- “कुल कितनी सम्पदा है?” लेखाधिकारी नें कहा – “सेठ जी, मोटे तौर पर कहूँ तो आपकी सात पीढ़ी बिना कुछ किए धरे आनन्द से भोग सके इतनी सम्पदा है आपकी।”


🔵 लेखाधिकारी के जाने के बाद सेठ चिंता में डूब गए, ‘तो क्या मेरी आठवी पीढ़ी भूखों मरेगी?’ वे रात दिन चिंता में रहने लगे। तनाव ग्रस्त रहते, भूख भाग चुकी थी, कुछ ही दिनों में कृशकाय हो गए। सेठानी द्वारा बार बार तनाव का कारण पूछने पर भी जवाब नहीं देते। सेठानी से हालत देखी नहीं जा रही थी। उसने मन स्थिरता व शान्त्ति के किए साधु संत के पास सत्संग में जाने को प्रेरित किया। सेठ को भी यह विचार पसंद आया। चलो अच्छा है, संत अवश्य कोई विद्या जानते होंगे जिससे मेरे दुख दूर हो जाँय। 🔴 सेठ सीधा संत समागम में पहूँचा और…

आज के ज़माने मे दहेज़ एक फैशन बन गया है!!!

Image
आज के ज़माने मे दहेज़ एक फैशन बन गया है ,हर आदमी दहेज़ के पीछे भाग रहा है .लोग अपने बच्चों को डॉक्टर या इंजीनियर बनाते है ताकि अच्छा दहेज़ मिल सके .सब से हैरान करने वाली बात ये है जो लड़का डॉक्टर या इंजीनियर बन जाता है वो भी दहेज़ के लिये कभी मना नहीं करता है , क्या मेडिकल  या इंजीनियरिंग कॉलेज मे उसको यही बताया गया की दहेज़ ले कर ही मैरिज करो . हम नए पीढ़ी के लोग ही इस फैशन को बदल सकते है , कुछ लोग तो ये  भी कहते है की दहेज़ नहीं मिला इससे हमारे सम्मान कम हो जाता है . इन्साफ -इंग्लैंड के बादशाह हेनरी की हानी
रमेश धनकपुर गावों मे किसानी करता है , बड़ी मुस्किल से दो वकत की रोटी अपने परिवार के लिये कमा पाता है .रमेश की एक बेटी महुआ और दो बेटे है , बेटी सबसे बड़ी है और बेटे छोटे है  .महुआ ने  पांचवी पास कर लिया है अब रमेश उस की मैरिज के बारे मे सोच ने लगा , क्यूकी उसके पास अब पैसा नहीं था जो अपनी बेटी को आगे और पढ़ा सके . रमेश अपने लड़की का रिस्ता लेकर लखन किसान के पास पंहुचा , पहले तो लखन बहुत ही खुश हुआ लेकिन जब रमेश ने उससे कहा की उसके पास देने के लिए कुछ भी नहीं है तो लखन के तेवर बदल गए और कहने लगा…

कैसे जागूँ?

Image
मैं बहुत भटक लिया बहुत सो लिया अब जागना चाहता हूँ कैसे जागूँ?

जागने के लिए पहले सोना पड़ेगा. और जो सोयेगा नहीं वह जागेगा कैसे. तो जागने के लिए पहले यह जान लेना जरूरी है की आप सोये होए हो . तभी तो जागना संभव हो सकेगा.
तो पहले यह जान ले की आप सोये होए है बहुत सालों से और इंतज़ार कर रहे हैं कुम्भकरण की तरह की कोई जगाने आएगा तो जाग जायेंगे पर तब तक सो लेता हूँ. प्रतीक्षा तुम्हे है पर जागोगे नहीं क्योंकि किसी के आने की प्रतीक्षा है की कोई आए और जगाये .
यहीं दुबिधा पैदा हो गयी है जागना तुम्हे है पर जगायेगा कोई और ऐसा कैसे हो सकता है . और अगर कोई और जगायेगा तो भी तो जागना तो तुम्हे ही है . तो उसके कहने से क्यों जग रहे हो खुद ही जग जाओ. "जागो के सवेरा हो गय
रात का अँधेरा खो गया
मंद मंद पंछी मुस्का रहे है
ची ची चहचहा रहे है
जागो के सूरज आन खड़ा है
हर इक पल रौशनी भरा है
मंतर मुग्ध हो जाओ
प्रेम वेला में खो जाओ
बस विसर्जित हो जाओ
शुन्य सिर्फ शुन्य हो जाओ "




Farewell party ???

Image
I have no words for Students Farewell party I enjoyed at Sliet. It was amazing. These things were not at our times in colleges.
I felt lucky while enjoying it.

I wish all the best to the students that they live there own life at there own footsteps create new ways which make easy the life of people's of India and the whole world.
Life is more than earning, eating and dying. It's living your own dreams with passion and courage.
Passion is the only word I want to give you as a gift.




रविन्द्र शर्मा तकनीशियन  केमिकल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट, संत लोंगोवाल अभियांत्रिक एवं प्रौद्योगिकी संस्थान, लोंगोवाल, पंजाब-१४८१०६

Who says Ravan died?

Who says Ravan died? Ravan has not died. He is inside you every moment with you. When you do some bad thing or activity. Ravan is everywhere in the form of bad peoples. But Ram is also alive in you who inspires you not to do any bad things and fight against any bad activity in the society. So be aware and stay as Ram, not as Ravan.

रविन्द्र शर्मा तकनीशियन  केमिकल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट, संत लोंगोवाल अभियांत्रिक एवं प्रौद्योगिकी संस्थान, लोंगोवाल, पंजाब-१४८१०६

वासनाओ से मुक्ति कैसे हो ?

वासनाओ से मुक्ति कैसे हो ?आज मनुष्य का जीवन वासनाओ का एक युद्ध भर रह गया है. हम सारा दिन यहाँ से वहां भागते रहते हैं किसी मकसद को पाने के लिए और यहाँ तक की जब वह मकसद मिल जाता है तो भी खुश नहीं होते बल्कि और नई वासना पाल लेते हैं. उदाहरण के लिए जब मोटरसाइकिल ले लेते हैं तो कार की कामना जग जाती है और जब कार ले लेते हैं तो बड़ी कार या प्लेन की.
अगर कूलर लेते हैं तो A. C. और A. C. ले लिया तो स्प्लिट A. C. यह सिलसिला कभी रुकता नहीं.
मैं आपके आराम करने के विरुद्ध नहीं हूँ न ही तरक्की करने के रस्ते में रोड़ा बनना चाहता हूँ तरक्की किसे अच्छी नहीं लगती. पर ऐसी तरक्की का क्या लाभ जो आनंद उपलभ्द न हो . वासनाओं से मुक्ति का एक ही आधार है सम रहना ख़ुशी- गमी , उतार-चढ़ाव, जीवन- मृत्यु यह जीवन के अभिन्न अंग है या यूँ कह लो इनके बिना जीवन संभव नहीं है. अगर गम न हो तो ख़ुशी का कैसे पता चलेगा . अगर बच्चा गिरेगा नहीं तो उठना कैसे सीखेगा.
तो सूत्र यह है की आपको किसी बात को दिल पर नहीं लगाना. खुश रहना है. ख़ुशी वस्तुओं में नहीं आपके अंदर है. मुसीबते आपको परखने और मजबूत करने के लिए आती हैं .
एक छोटी सी कहानी कहूंगा त…

एक म्यान में दो तलवार कैसे रह सकते हैं ???

Image
15 अगस्त 1947 वहाँ देश आजाद हो रहा था और एक शख्स ऐसा था जो कोलकाता की सड़कों पर लोगों को सदभाव बनाये रखने की अपील करता घूम रहा था. वो थे महात्मा गाँधी. 
हम जाने उनके बारे में क्या क्या बोलते हैं. उन्होने बहुत प्रयास किये की देश के टुकड़े न हों. पर पंडित जवाहरलाल नेहरू और मोहम्मद अली जिन्नाह की प्रधानमंत्री बनने की ललक ने देश के टुकड़े करवा दिए.